नई दिल्ली : आगामी लोकसभा चुनावों से पहले राम मंदिर का मुद्दा लगातार चर्चा में बना हुआ है। विपक्ष लगातार बीजेपी को राम मंदिर पर किए गए वायदे को याद करा रहा है। इसी बीच बिहार के मुख्यमंत्री और एनडीए घटक दल के प्रमुख नीतीश कुमार ने इस मामले पर बड़ा बयान दिया है। नीतीश कुमार ने कहा है कि राम मंदिर का मसला आपसी बातचीत या फिर कोर्ट के जरिए हल किया जाना चाहिए। नीतीश कुमार ने यह बयान नई दिल्ली में सीट बंटवारे के अंतिम रूप देने के बाद दिया।

लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारे के फैसले के बाद नीतीश कुमार ने कहा ''हमारी राय है कि राम मंदिर के मामले को कोर्ट के फैसले के द्वारा ही हल किया जाना चाहिए।''इस मौके पर नीतीश ने बिहार के विकास के प्रति गठबंधन को प्रतिबद्ध बताया। उन्होंने कहा कि हम बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। वहीं लंबी खींचतान के बाद बिहार में एनडीए के फार्मूले को अंतिम मुंहर लग पाई. दिल्ली में हुई आज मीटिंग में तय हुआ कि बीजेपी 17, जेडीयू 17 और एलजेपी 6 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इसके अलावा एलजेपी को राज्यसभा की भी एक सीट दी जाएगी। बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक कार्यक्रम के दौरान राम मंदिर पर बयान दिया था। उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर जरूर बनेगा और इसे हम ही बनाएंगे और कोई नहीं बनाएगा।...और पढ़ें>>>

अगली खबर>>>