बाराबंकी पुलिस ने पिछले महीने दिन-दिहाड़े पेट्रोल पंप के मैनेजर से लाखों की लूट की वारदात का खुलासा कर दिया है. पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार करते हुए इनके पास से लूट की रकम और तमंचे और कारतूस भी बरामद किए हैं. बता दें कि इस वारदात के बाद डीआईजी अयोध्या रेंज ओंकार सिंह भी मौके पर पहुंचे थे।
जिले में हुई लूट और डकैती की वारदातों का इतने दिनों बाद भी खुलासा न होने पर डीआईजी ने नाराजगी जाहिर करते हुिए पुलिस को फटकार लगाई थी. डीआईजी ने एसपी समेत पुलिस के तमाम अफसरों को चेतावनी दी थी कि अगर समय रहते लूट के खुलासे न हुए तो किसी कुर्सी भी सुरक्षित नहीं रहेगी.
दरअसल मामला फतेहपुर कोतवाली क्षेत्र में पूर्व विधायक शिवकरन सिंह के पेट्रोल पंप रघुपत फिलिंग स्टेशन के मैनेजर धर्मपाल सिंह से दिनदहाड़े करीब सवा 5 लाख की लूट से जुड़ा है. पुलिस ने लूट की इस वारदात का खुलासा करते हुए इनके पास से लूट की बाकी रकम, तमंचे और कारतूस भी बरामद किए हैं. बाराबंकी के एसपी डॉ. सतीश कुमार ने इस वारदात के खुलासे के लिए पुलिस की कई टीमें बनाई थीं।
पुलिस टीम ने वारदात वाली जगह से बरामद मोटरसाइकिल से इस केस की जांच शुरू की. वारदात के खुलासे के लिए पुलिस ने बदमाशों के स्केच की भी मदद ली. जिसके बाद मुखबिर की सूचना पर टीम ने इन 4 आरोपियों में से एक को गिरफ्तार किया और उससे कड़ाई से पूछताछ के सहारे पुलिस बाकी आरोपियों तक भी पहुंच गई।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डॉ. सतीश कुमार ने बताया कि लुटेरे मौके पर अपनी एक बाइक छोड़कर भाग गए थे. पुलिस ने बाइक को कब्जे में लेकर जांच शुरू की. इस लूट के खुलासे में क्राइम ब्रांच से भी मदद ली जा रही थी. पुलिस ने आरोपियों के पास से 1 लाख 19 हजार 750 रुपए के साथ एक तमंचा और जिंदा कारतूस बरामद किया है. एक आरोपी अभी फरार है, उसे भी पुलिस जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी. इस वारदात के खुलासे के लिए पुलिस टीम को ईनाम दिया जाएगा।...और पढ़ें>>>

     अगली खबर>>>                            पिछली खबर>>>