अगर आपने अपना एटीएम कार्ड नहीं बदलवाया तो नए साल में आपका कार्ड एटीएम मशीन में नहीं चलेगा. ऐसे में आपका नए साल का मज़ा किरकिरा हो सकता है. रिजर्व बैंक के आदेशानुसार, सभी बैंकों को अपने मैग्स्ट्रिप (मैग्नेटिक स्ट्रिप यानी काली पट्टी) वाले डेबिट और क्रेडिट कार्ड को ईएमवी (यूरोप, मास्टरकार्ड और वीजा) आधारित चिप कार्ड में बदलना होगा. इसकी अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2018 है. इसके बाद सभी मैग्स्ट्रिप कार्ड्स को ब्लॉक कर दिया जाएगा. अगर आपने ईएमवी आधारित चिप कार्ड के लिए आवेदन नहीं किया है तो 31 दिसंबर 2018 से पहले जरूर कर दें. SBI बैंक यह कार्ड आपको फ्री में दे रहा है.

नहीं निकाल पाएंगे पैसे- देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक SBI ने अपने ग्राहकों को अपना डेबिट कार्ड बदलवाने के लिए कहा है. बैंक ने ट्वीट के जरिए बताया है कि सभी को पुराने मैजिस्ट्रिप (मैग्नेटिक) डेबिट कार्ड है तुरंत बदलवाना होगा. इसके बदले ग्राहकों को ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड लेना होगा. इसकी अंतिम तारीख 31 दिसंबर 2018 है. आपको बता दें कि अगर आपने ऐसा नहीं किया तो आप अपने पुराने एटीएम से कोई भी काम नहीं कर पाएंगे, क्योंकि बैंकों की एटीएम मशीनें आपके कार्ड को स्वीकार नहीं करेंगी.

मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड नहीं हैं सुरक्षित- रिजर्व बैंक के अनुसार, मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड अब पुरानी टेक्‍नोलॉजी हो चुकी है. ऐसा कार्ड बनना अब बंद भी हो गया है, क्‍योंकि ये कार्ड पूरी तरह से सुरक्षित नहीं थे, जिसकी वजह से इन्‍हें बंद कर दिया गया है. अब इनकी जगह EMV चिप कार्ड को तैयार किया गया है. सभी पुराने कार्ड को नए चिप कार्ड से बदला जाएगा.

ज्‍यादा सुरक्षित हैं नए EVM चिप वाले कार्ड- EVM चिप वाले डेबिट या क्रेडिट कार्ड पर एक छोटी चिप लगी होगी, जिसमें आपके खाते की पूरी जानकारी होती है. यह जानकारी इनक्रिप्टेड होती है, ताकि कोई इसके डाटा की चोरी न कर सके. EMV चिप कार्ड में ट्रांजैक्‍शन के दौरान यूजर को सत्‍यापित करने के लिए एक यूनिक ट्रांजेक्‍शन कोड जनरेट होता है, जो वेरिफिकेशन को सर्पोट करता है जबकि मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड में ऐसा नहीं होता है....और पढ़ें>>>

 अगली खबर >>>                               पिछली खबर>>>

बिना किसी डॉक्यूमेंट के कैसे बनवा सकते हैं अपना Aadhaar