Recents in Beach

अहम महत्व है फर्रुखाबाद के संकिसा का jni news on

( संकिसा ): अहम महत्व है फर्रुखाबाद के संकिसा का, मान्यता है कि यहां भगवान बुद्ध का स्वर्ग से अवतरण हुआ था। यहीं पर उन्होंने अपनी मां को उपदेश दिया था।

दलाईलामा मैनपुरी के जसराजपुर मे बौद्ध विहार का लोकार्पण करने के बाद अपने अनुयायियों को विश्वशांति पर प्रवचन दिया। उहोंने कहा कि दुनिया में इस समय शांति और अहिंसा की आवश्यकता है। भारत का सर्वधर्म समभाव का प्राचीन सिंद्धात इसके लिए कारगर है। पूरे विश्व को इस सिद्धांत पर अमल करने की सीख भारत से लेनी चाहिए। यहां सदियों से विभिन्न धर्म- जाति के लोग अलग- अलग परंपराओं के साथ मिलजुल कर रह रहे हैं। दलाईलामा के प्रवचन के लिए बनाया गया मंच थाईलैंड से आए विशेष प्रकार के फूलों से सजाया गया है। अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम की सांस्कृतिक विरासत को मंच सज्जा के माध्यम से दर्शाया गया है। मंच सज्जा के लिए थाईलैंड की संस्था समुई बौद्ध मठ के भिक्षु मैत्रेय थैरो को दिया गया है। फूलों से मंच को सजाने के लिए थाईलैंड का 40 सदस्यीय दल रविवार शाम कार्यक्रम स्थल पर पहुंच गया था।
दलाईलामा के कार्यक्रम में आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर इंटरनेट सुविधा मुहैया कराने के लिए रिलायंस जीओ के तीन टॉवरों ने काम करना शुरू कर दिया है। मुंबई के विशेषज्ञों की निगरानी में रविवार को इंटरनेट की रफ्तार को परखा गया था। जीओ के नेटवर्क से ही दलाईलामा के कार्यक्रम को लाइव किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त पंडाल में जगह-जगह एलईडी स्क्रीन लगाई गई है। दलाईलामा की सुरक्षा का जिम्मा उनकी निजी सुरक्षा के अतिरिक्त दो जोन का फोर्स संभाल रहा है। स्थानीय प्रशासन के अतिरिक्त गृह मंत्रालय, इंटेलीजेंस व विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने सुरक्षा का जिम्मा संभाला हुआ है। इन टीमों के सहयोग के लिए आगरा व कानपुर जोन के तकरीबन 500 से अधिक पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे। इनके अतिरिक्त दो एएसपी, छह सीओ, 14 थानाध्यक्ष व एक कंपनी पीएससी के जवान सुरक्षा के मोर्चे पर तैनात हैं।
दलाई लामा के कार्यक्रम के लिए आयोजन समिति ने विभिन्न 23 टीमें बनाई हैं। एक हजार वॉलंटियर्स वाली 23 टीमों के ग्रुप लीडर को व्यवस्था पर निगाह बनाए रखने के लिए जिम्मा दिया गया है। वॉलंटियर्स को पहचान के लिए अलग से पास जारी किए गए हैं। रविवार दोपहर प्रशासन ने वाईबीएस पदाधिकारियों के साथ वॉलंटियर्स को व्यवस्थाओं को संभालने के लिए जरूरी बातें बताई थीं। कार्यक्रम में आने वाले उपासकों की भोजन व्यवस्था के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए है ।