Recents in Beach

गोकशी पर बुलंदशहर मे बवाल, पुलिस पर पथराव-फायरिंग; इंस्पेक्टर की मौत jni news on

बुलंदशहर में आज गोकशी के खिलाफ लोगों का गुस्सा इतना चरम पर आ गया कि इन लोगों ने कानून हाथ में ले लिया। इसके बाद पुलिस चौकी को फूंकने के साथ पुलिस पर भी हमला किया गया। इसमें एक इंस्पेक्टर ने जान गंवा दी जबकि दारोगा के साथ आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हैं। पथराव में गंभीर रूप से घायल युवक सुमित ने भी दम तोड़ दिया। एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार और आइज रामकुमार भी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं।

बुलंदशहर में स्याना कोतवाली क्षेत्र के महाव गांव में गन्ने के खेत में बड़े पैमाने पर गोकशी के अवशेष मिलने पर ग्रामीणों के साथ हिंदू संगठनों का आक्रोश फूट गया। यहां घटनास्थल पर पहुंची गुस्साई भीड़ ने अवशेषों को ट्रैक्टर ट्रॉली में भरा और इसके बाद स्याना बुलंदशहर हाईवे स्थित चिंगरावठी पुसिल चौकी के निकट हाईवे पर जाम लगा दिया। यह लोग आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। पुलिस ने जाम खुलवाने का प्रयास किया तो आक्रोशित भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर दिया। भीड़ ने पुलिस चौकी में घुसकर तोडफ़ोड़ की और चौकी का सामान बाहर निकाल कर आग के हवाले कर दिया।

गुस्साई भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हवा में फायरिंग की, जिससे आक्रोशित भीड़ ने स्याना कोतवाल इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर हमला बोल दिया। इसमें उनकी मौत हो गई। लाठीचार्ज से गुस्साई भीड़ ने चौकी के बाहर खड़े दर्जनों वाहनों में आग लगा दी। पथराव में एक युवक सुमित पुत्र अमरजीत निवासी चिंगरावठी भी घायल हो गया जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां से उसे मेरठ मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। यहां उसने दम तोड़ दिया। बवाल में मारे गए इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार सिंह। 
बिगड़ते हालात को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने इज्तिमा में शामिल होकर लौट रहे लोगों के वाहनों को रास्ते में रुकवा दिया, ताकि सांप्रदायिक बवाल न हो सके। 
बुलंदशहर में गोकशी के विरोध में हुए बवाल में मारे गए कोतवाल सुबोध कुमार सिंह पुत्र राम प्रताप सिंह निवासी ग्राम परगंवा, थाना जैथरा जनपद एटा के रहने वाले थे। इनके दोनों पुत्र नोएडा में पढ़ते हैं। इनकी पत्नी साथ में रहती थीं।

ऐसी और अधिक न्यूज के लिए google मे

jninewslive.com  टाइप करे।