मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में किसानों की कर्ज माफी के ऐलान के बाद कांग्रेस कर्ज माफी को लोकसभा चुनाव में बड़ा मुद्दा बनाएगी। वह किसानों का भरोसा जीतने के लिए सभी प्रदेशों में सम्मेलन की तैयारी कर रही है, जिनमें किसानों का कर्ज माफ करने और उनकी फसल का उचित दाम दिलाने का वादा किया जाएगा।

कांग्रेस का कहना है कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में सरकार बनाने के साथ कर्ज माफी की घोषणा कर पार्टी ने वादा पूरा किया है। एक वरिष्ठ नेता ने कहा, लोकसभा चुनाव में किसानों की कर्ज माफी बड़ा मुद्दा होगा। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी साफ कह चुके हैं कि अगर भाजपा किसानों का कर्ज माफ नहीं करती है तो लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में सरकार बनने पर कांग्रेस गारंटी के साथ किसानों का कर्ज माफ करेगी।

उन्होंने कहा, यूपीए सरकार और अब तीनों राज्यों में कर्ज माफ करने के बाद किसान कांग्रेस के वादे पर यकीन करेंगे। लेकिन इसके लिए कांग्रेस को किसानों तक पहुंचकर उन्हें भरोसा दिलाना होगा। इसलिए पार्टी अगले दो माह में सभी प्रदेशों में किसान सम्मेलन करेगी। इन सम्मेलनों के जरिये पार्टी विभिन्न किसान संगठनों और उनके नेताओं से चर्चा कर उन्हें भी इस मुहिम में शामिल करने की कोशिश करेगी।
कांग्रेस किसानों को यह समझाने का भी प्रयास करेगी कि भाजपा की केंद्र और राज्य सरकारों ने किस तरह किसानों के साथ वादाखिलाफी की है। पार्टी का कहना है कि सरकार ने फसलों की एमएसपी फसलों की उत्पादन लागत पर डेढ़ गुणा तय करने का ऐलान किया है, पर हकीकत इसके उलट है। ....और पढ़ें>>>

पिछली खबर>>>


Gullimaar